Sweden Quran Burn in Hindi 2022 : स्वीडन में कुरान जलाने की घटना के बाद चौथे दिन भी दंगा जारी है |

Sweden Quran Burn in Hindi 2022 स्वीडन में कुछ दिन पहले कुरान जलाने को लेकर एक मामला सामने आया था | उस मामले को लेकर अभी भी लोग स्वीडन में दंगे दंगे हो रहे है | आज चौथा दिन हो चुका है और चौथे दिन भी कई शहरों में हिंसा जारी है |

Sweden Quran Burn in Hindi 2022 : स्वीडन में कुरान जलाने की घटना के बाद चौथे दिन भी दंगा जारी है |
( Image Source : Navbharattimes ) 

मिली  जानकारी के मुताबिक पुलिस ने अब तक हिंसा फैलाने के मामले में 17 लोगों को गिरफ्तार किया है | और अब पुलिस इस हिंसा को रोकने के लिए काम कर रही है |

स्वीडन में कुरान जलाने की घटना के बाद चौथे दिन भी दंगा जारी है | 

स्वीडन में कुछ दिन पहले कुरान जलाने को लेकर एक मामला सामने आया था | उस मामले को लेकर अभी भी लोग स्वीडन में दंगे दंगे हो रहे है | ईरान और इराक ने कुरान जलाने का विरोध किया है। दोनों देशों ने स्वीडन के राजदूतों को तलब किया। स्टॉर्म कुर्स पार्टी चलाने वाले डेनिश-स्वीडिश चरमपंथी रासमस पलुदान ने कहा कि उन्होंने इस्लाम की सबसे पवित्र किताब को जला दिया है।

जानकारी के अनुसार, कार्यक्रम की योजना स्टॉकहोम, लिंकोपिंग और नॉरकोपिंग में दक्षिणपंथी समूहों द्वारा बनाई गई थी। गुरुवार, शुक्रवार और शनिवार को जहां भी कार्यक्रम आयोजित किए गए वहां हिंसा भड़क गई। अब तक 16 पुलिस अधिकारी घायल हो चुके हैं। पुलिस के कई वाहनों को भी क्षतिग्रस्त किया गया।

स्थानीय पुलिस के अनुसार, उन्होंने हिंसा को देखते हुए चेतावनी के रूप में गोलियां चलाई थीं, लेकिन तीन लोग घायल हो गए और घायल हो गए।

स्वीडन के राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख एंडर्स थॉर्नबर्ग ने शनिवार को कहा कि प्रदर्शनकारियों को पुलिस अधिकारियों की जान की परवाह नहीं है. उन्होंने कहा, "हमने पहले भी हिंसक दंगे देखे हैं, लेकिन यह अलग है।"

2020 में भी स्ट्रोम कुर्स ने कुरान को जलाने की योजना बनाई थी, जिसके बाद हिंसा भड़क उठी थी। उस समय माल्मो शहर में कई वाहनों और दुकानों में आग लगा दी गई थी. इस हिंसा के बाद रासमस पलुदान को 2020 में नस्लवाद के आरोप में जेल भेज दिया गया था।