Happy Birthday Khatu Shyam Baba : खाटू श्याम मंदिर क्यों प्रसिद्ध है?

देवउठनी एकादशी,तुलसी विवाह एवं असंख्य श्रद्धालुओं की आस्था के केन्द्र श्री खाटू श्याम जी के जन्मोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं

Happy Khatu Shyam Birthday Baba : आज पूरे देश भर में हारे का सहारा खाटू श्याम बाबा का जन्मदिन (Happy Khatu Shyam Birthday Baba) बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है | 

Happy Birthday Khatu Shyam Baba

क्या आप हारे का सहारा खाटू श्याम बाबा के इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं, या फिर आप खाटू श्याम भगवान और उनका मंदिर क्यों प्रसिद्ध है इसके बारे में जानना चाहते हैं तो आप एकदम सही पोस्ट पढ़ रहे हैं | हर साल खाटू श्याम बाबा का जन्मदिन देवउठनी ग्यारस के दिन मनाया जाता है | आइए जानते हैं हारे का सहारा खाटू श्याम बाबा के बारे में जानकारी | 

Happy Khatu Shyam Birthday Baba 

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि आज देवउठनी ग्यारस है | आज ही के दिन हारे का सहारा कहे जाने वाले खाटू श्याम बाबा का जन्मदिन (Happy Khatu Shyam Birthday Baba) भी है | आज ही के दिन खाटू श्याम बाबा कार्तिक शुक्ल पक्ष की देवउठनी ग्यारस पर ही जन्मे थे | जिस वजह से भगवान श्रीकृष्ण के कलयुगी अवतार कहे जाने वाले खाटू श्याम बाबा का जन्म दिवस आज के दिन सेलिब्रेट किया जा रहा है | 

सीकर जिले में है खाटू श्याम बाबा का मंदिर 

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि राजस्थान के सीकर जिले में खाटू श्याम बाबा का एक प्रसिद्ध मंदिर है | इस मंदिर पर भारत के ही नहीं बल्कि विदेश से भी लोग खाटू श्याम बाबा के दर्शन करने के लिए आते हैं | हारे का सहारा कहे जाने वाले खाटू श्याम बाबा का यह मंदिर राजस्थान के खाटू कस्बे में स्थित है | 

आपको जानकर हैरानी होगी कि खाटू श्याम बाबा का जन्म दिवस पूरे भारत में बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है | उनके भक्तों की भी काफी ज्यादा संख्या इस साल देखी जा रही है | हम सभी लोग जानते हैं कि पिछले कुछ सालों में खाटू श्याम बाबा काफी ज्यादा भक्तों के दिलों में छा गए हैं | जिसके बाद लोग खाटू श्याम बाबा की भक्ति में इतने लीन हो गए हैं, कि वह बस खाटू श्याम बाबा की भक्ति में ही लीन रहना चाहते हैं | 

वृंदावन में भी निकलेगी यात्रा 

आपको जानकार हैरानी होगी कि खाटू श्याम बाबा कि इस जन्म दिवस के अवसर पर देव उठनी ग्यारस के दिन खाटू श्याम बाबा के इस जन्म दिवस को वृंदावन में भी लोग काफी धूमधाम से मना रहे हैं | क्योंकि यह श्रीकृष्ण के कलयुगी अवतार भी कहे जाते हैं | इसके अलावा आपको बता दें कि खाटू श्याम बाबा के इस जन्म दिवस के अवसर पर वृंदावन में 4 नवंबर 2022 को एक भव्य यात्रा निकाली जा रही है | जिसकी तैयारियां भी जोरों-शोरों से लोग कर रहे हैं | 

खाटू श्याम क्यों प्रसिद्ध है? 

अगर आप हिंदू धर्म से संबंधित हैं, तो आपको पता ही होगा कि पिछले कुछ सालों में खाटू श्याम बाबा इतने ज्यादा लोकप्रिय हो गए हैं, जितना कि यह पहले कभी नहीं थे | आपको बता दें कि खाटू श्याम बाबा की प्रसिद्धि का कारण भगवान श्री कृष्ण के एक वरदान की वजह से हुआ है | 

भगवान श्री कृष्ण ने अपने समय में बर्बरीक के द्वारा दिए गए बलिदान से काफी ज्यादा प्रसन्न होकर उन्हें वरदान दिया था कि कलयुग में वह श्याम के नाम से पूजा जाएंगे | इसी वजह से सभी भक्तों ने खाटू श्याम कहकर पुकारने लगे | यही कारण है कि लोग भगवान खाटू श्याम को काफी ज्यादा पूज्य भाव से पूजते हैं | 

आपको बता दें कि खाटू श्याम बाबा महाभारत काल से चले आ रहे हैं | अतः इन की कहानी कुछ इस प्रकार है कि खाटू श्याम पांडू पत्र भीम के पात्र माने जाते हैं | भगवान श्री कृष्ण ने महाभारत के समय खाटू श्याम के द्वारा दिए गए बलिदान अपार भक्ति को देखकर उनसे प्रभावित होकर मैं वरदान दिया था कि वह कलयुग में श्याम यानी खुद के नाम से ही पूजा जाएंगे | अतः कहा जा सकता है कि यह खाटू श्याम महाभारत के भीम के पुत्र घटोत्कच के पुत्र बर्बरीक थे | इस हिसाब से यह भीम के पोत्र हुए |