YouTube New Monetization Program For 2023 : यूट्यूब चैनल मोनेटाइजेशन के लिए अब नहीं होगी 1000 सब्सक्राइबर की जरूरत

YouTube New Monetization Program For 2023 : यूट्यूब चैनल मोनेटाइजेशन के लिए अब नहीं होगी 1 1000 सब्सक्राइबर की जरूरत

YouTube New Monetization Program For 2023 : दोस्तों अगर आप एक यूट्यूबर हैं, या फिर आप यूट्यूब पर अपना एक चैनल बनाकर, यूट्यूब वीडियो से कमाई करना चाहते हैं | तो यूट्यूब वीडियो क्रिएटर के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी निकल कर सामने आ रही है | 

YouTube New Monetization Program For 2022

अमेरिकन न्यूज़ एजेंसी 'द न्यूयॉर्क टाइम्स' के मुताबिक यूट्यूब अपनी मोनेटाइजेशन पॉलिसी में एक बहुत बड़ा बदलाव करने जा रहा है | अपडेट के बाद यूट्यूबर अपने यूट्यूब चैनल की सहायता से ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सकेंगे और जल्दी | इसमें उन सभी यूट्यूब क्रिएटर को फायदा मिलने वाला है, जिनका यूट्यूब चैनल मोनेटाइज नहीं है | 

YouTube Partner Program Update 2022 

अमेरिकन न्यूज़ एजेंसी द न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक यूट्यूब अपनी YouTube Partner Program में 1 जनवरी 2023 से बहुत बड़ा अपडेट लेकर आने वाला है | इस अपडेट से उन सभी छोटे और बड़े क्रिकेटर को फायदा होने वाला है, जो कि यूट्यूब पर या तो लॉन्ग वीडियो डालते थे या शॉट वीडियो | 

आपको बता दें कि यह जो अपडेट यूट्यूब क्रिएटर के लिए लाने वाला है, उसकी घोषणा यूट्यूब, प्रोडक्ट मैनेजमेंट और क्रेटर प्रोडक्ट्स के वाइस प्रेसिडेंट "अमजाद हैनिफ्ज हनीफ ने कहा है कि - अभी तक यूट्यूब पर अपने चयन को मोनेटाइज करने के लिए क्रेटर के पास कम से कम 1000 सब्सक्राइबर्स तथा 4000 घंटे का वॉच टाइम होना जरूरी था | जिसे क्रिएटर बहुत ही मुश्किल से पूरा कर पाते थे | इनमें से कुछ क्रिकेट तो बीच में ही अपने यूट्यूब चैनल को छोड़ देते थे | 

इसी परेशानी को देखते हुए यूट्यूब 1 जनवरी 2023 से यूट्यूब मोनेटाइजेशन पॉलिसी में नया अपडेट लाने वाला है, जिसके अनुसार क्रिएटर के लिए चैनल मोनेटाइजेशन के लिए तय की गई एलिजिबिलिटी को अब कम किया जा सकता है | हालांकि बता दें कि यह इंफॉर्मेशन एक मीटिंग के द्वारा लीक हुई है | जैसे द न्यूयॉर्क टाइम्स ने कवर किया है | अभी तक यूट्यूब ने अपनी पॉलिसी में ऐसा ऑफिशियली कुछ भी घोषणा नहीं की है | 

यूट्यूब ऐसा क्यों कर रहा है ? 

दोस्तों अगर आपके मन में अभी भी यह सवाल उठ रहा है कि आखिर यूट्यूब ऐसा क्यों कर रहा है ? तो आपको बता दें कि यूट्यूब पर कई सारे क्रिएटर वीडियोस डालते हैं | इसके द्वारा अभी तक निर्धारित 1000 सब्सक्राइबर्स और 4000 घंटा वॉच टाइम कवर करना बहुत ज्यादा मुश्किल होता था | कई सारे क्रिएटर तो बीच में ही अपने यूट्यूब चैनल को छोड़ देते थे | इसलिए यूट्यूब ने मोनेटाइजेशन प्रोग्राम में अपडेट लाने का सोचा है | आरा कि इसके कई सारे कारण और भी हो सकते हैं | 

शार्ट वीडियो क्रिएटर के लिए अपडेट 

दोस्तों आप सब को बता दें कि अगर आप अपने यूट्यूब चैनल पर शार्ट वीडियो डालते थे जो कि 60 सेकंड की होती थी | उनके लिए अपडेट यह है कि अब शार्ट वीडियो को भी यूट्यूब पार्टनरशिप प्रोग्राम में शामिल किया जाएगा | जिसमें शार्ट वीडियो पर भी गूगल ऐडसेंस के एड्स दिखाई देने वाले हैं | हालांकि इसके बारे में अभी तक यूट्यूब की तरफ से कोई भी ऑफिशल अनाउंसमेंट नहीं हुआ है | यह जानकारी एक मीटिंग के जरिए लीक हुई है | अब आपकी शॉर्ट वीडियो पर लोंग वीडियो की तरह ही एड्स आएंगे | 

इसके अलावा इससे पहले शॉर्ट्स वीडियो पर केवल शॉर्ट्स फंड के से ही शॉर्ट्स वीडियो क्रिएटर कमाई कर पाते थे | लेकिन अभी तक इस के बारे में जानकारी नहीं मिली है कि आखिर यह अपडेट लागू होने के बाद से शार्ट फंड रहेगा या फिर इसे बंद कर दिया जाएगा | लेकिन कुछ भी हो आपके लिए तो यह बहुत बड़ी खुशखबरी साबित होने वाली है | इसी बात पर आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें |

News Credit : The New York Times