Hindi Diwas 2022 : हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है ?

भारत में हर साल हिंदी दिवस 2022, 14 सितंबर को मनाया जाता है | जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं हिंदी भाषा भारत की राजभाषा है |

Hindi Diwas 2022 : दोस्तों अगर आप भी जानना चाहते हैं कि हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है ? या फिर हिंदी दिवस मनाने के पीछे क्या कारण होता है | तो आप एकदम सही पोस्ट पढ़ रहे हैं | इस पोस्ट में हम आपको हिंदी दिवस 2022 से संबंधित समस्त जानकारी देने वाले हैं | 

Hindi Diwas 2022 : हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है ?
(Image Credit : Live hisdustan)

हिंदी दिवस 2022 जोकि कल यानी कि 14 सितंबर 2022 को मनाया जाना है | आपको बता दूं कि 10 जनवरी को हर साल विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है लेकिन भारत में हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाएगा |अगर आपके मन में यह कंफ्यूज हो रहा है कि हिंदी दिवस कब मनाया जाता तो अब आपका यह कंफ्यूजन दूर हो गया होगा | 

Hindi Diwas 2022 

भारत में हर साल हिंदी दिवस 2022, 14 सितंबर को मनाया जाता है | जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं हिंदी भाषा भारत की राजभाषा है | जबकि भारत की अभी तक कोई भी राष्ट्रभाषा नहीं है | अतः कई सारे हिंदी के प्रोफेसर ने हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा के रूप में चिन्हित करने की कोशिश की है | परंतु भारत की अभी तक कोई भी राष्ट्रभाषा नहीं बन पाई है | 

भारत की आजादी के 2 साल बाद 14 सितंबर 1949 को हिंदी भाषा को राजभाषा भाषा के रूप में दर्जा मिला | आपको जानकर खुशी होगी कि हिंदी भाषा को पूरे विश्व में विश्व की चौथी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है | हिंदी भाषा को भारत के अलावा कई सारे देशों में भी बोला जाता है | आइए आप जानते हैं कि आखिर हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है ? 

हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है ? 

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि जिस समय भारत अपनी आजादी के लिए अंग्रेजों से लड़ रहा था | आजादी मिलने के बाद संविधान सभा समिति मैं हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में घोषित किया गया था | यह घोषणा 14 सितंबर 1949 के दिन हुई थी | तभी से 14 सितंबर को ही भारत में हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है | 

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि भाषा किसी व्यक्ति इंसान या समूह जाति के लिए एक बड़ा ही रोल निभाती है | क्योंकि भाषा के माध्यम से ही हम सभी एक दूसरे से अपने विचारों का आदान प्रदान कर पाते हैं | चूंकि भारतीयों की मातृभाषा हिंदी है इसलिए हिंदी दिवस को मनाया जाता है | जिससे कि हिंदी भाषा को बढ़ावा दिया जा सके |  

हिंदी भाषा का महत्व 

दोस्तों अगर हम हिंदी भाषा की महत्व की बात करें तो आप सब लोग भलीभांति परिचित हैं कि हिंदी भाषा का भारतीयों की जीवन में कितना अधिक महत्व है | क्योंकि हिंदी भाषा ही हमारी मातृभाषा है | हिंदी भाषा कोई हम बचपन से ना केवल सीखते आ रहे हैं, बल्कि इसे महसूस भी करते हैं | इसी महत्व को ध्यान में रखकर पहली बार भारत में 14 सितंबर 1953 को हिंदी दिवस मनाया गया था | 

अगर हम हिंदी भाषा के इतिहास की बात करें तो दरअसल हिंदी नाम का पहले कोई शब्द था ही नहीं | जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं सिंधु नदी के आसपास जो लोग रहते थे, उनकी भाषा को फारसी भाषा बोलने वाले तुर्की लोगों ने भारत पर किए गए आक्रमण के दौरान हिंद नाम दिया था | इसी के चलते जय हिंद सब धीरे-धीरे हिंदू में तब्दील हो गया | तभी से सिंधु नदी के किनारे के आसपास बसे सभी लोगों के द्वारा बोली जाने वाली भाषा हिंदी भाषा कहलाने लगी |

यह भी पढ़ें -