Dr. Bhupen Hazarika's 96th Birthday: जानिए कौन है डॉक्टर भूपेन हजारीका, जिनका डूडल आज गूगल ने बनाया है |

Dr. Bhupen Hazarika's 96th Birthday: जानिए कौन है डॉक्टर भूपेन हजारीका, जिनका डूडल आज गूगल ने बनाया है |

Dr. Bhupen Hazarika's 96th Birthday: दोस्तों क्या आप डॉक्टर भूपेन हजारिका के बारे में जानना चाहते हैं | जिनकी पिक्चर आज दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने अपने डूडल फीचर पर लगाई है | दरअसल आज डॉक्टर भूपेन हजारिका का 96वा जन्मदिवस है | इसी के अवसर पर गूगल ने डॉक्टर भूपेन हजारिका की एक तस्वीर को डूडल पर दिखाया है | 

Dr. Bhupen Hazarika's 96th Birthday

डॉक्टर भूपेन हजारिका एक भारतीय कलाकार थे | जोकि महान गायक और संगीतकार भी थे | इन्हीं के जन्म दिवस के अवसर पर गूगल ने श्रद्धांजलि देने के लिए अपने डूडल फीचर पर दिखाया है | आइए जानते हैं डॉक्टर भूपेन हजारिका के बारे में और जानकारी | 

Dr. Bhupen Hazarika's (डॉक्टर भूपेन हजारीका)

डॉक्टर भूपेन हजारिका जो कि एक भारतीय गायक और संगीतकार होने के साथ-साथ फिल्म निर्माता के रूप में जाने जाते हैं | आज इनका 94बा जन्म दिवस है इसी के अवसर पर गूगल ने इन्हें सम्मान देने के लिए अपनी डूडल पिक्चर पर दिखाया है | आपको बता दें कि डॉक्टर भूपेन हजारिका का जन्म 8 सितंबर 1926 को असम राज्य के तिनसुकिया नामक स्थान पर हुआ था | 

डॉक्टर भूपेन हजारिका कि अगर हम माता-पिता की बात करें तो इनके पिता जी का नाम नीलकांत हजारिका तथा माता जी का नाम शांतिप्रिया हजारीका था | इनकी शादी भी हो चुकी थी | इनकी पत्नी का नाम प्रिय बंदा पटेल है | पेशे से डॉक्टर भूपेन हजारिका संगीतकार कवि लेखक होने के साथ-साथ फिल्म निर्माता भी थे | 

अगर हम डॉक्टर भूपेन हजारिका जोकि एक भारतीय गायक और संगीतकार होने के साथ-साथ फिल्म निर्माता भी हैं | इनकी पढ़ाई की बात करें तो इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा असम के गुवाहाटी शहर में ही पूरी की है | प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद इन्होंने पॉलिटिकल साइंस से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से पूरी की है | 

इसके बाद भूपेन हजारिका अपने काम के लिए बेहतर ढंग से करने की वजह से स्कॉलरशिप के तौर पर कुछ राशि भी दी गई | इसी की वजह से यह अपनी आगे की पढ़ाई करने के लिए सन 1949 में कोलंबिया की यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए गए | कोलंबिया में अपनी पढ़ाई के दौरान वह एक प्रिय बंदा पटेल नाम की लड़की से मिले | यहां पर दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया था जिसकी वजह से दोनों ने 1950 में ही शादी कर ली | 

कोलंबिया में स्टडी के दौरान ही डॉक्टर भूपेन हजारिका को संगीत और गायिका की दुनिया से लगा हो चुका था | इसी के चलते उन्हें फिल्म मेकिंग में भी रुचि आने लगी | और फिर इन्होंने अपना रुक भी अपनी रुचि की तरफ मोड़ लिया | और अपने पैशन को फॉलो करने के लिए उन्हें कई दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा | इनमें सबसे प्रमुख है कि एक बार अमेरिका के एक नीग्रो पॉल रॉबसन से गाना सीखने के कारण उन्हें 7 दिन की जेल भी हुई थी | 

सम्मान और पुरस्कार 

अगर हम भारत के इतने बड़े गायक और संगीतकार के साथ-साथ फिल्म निर्माता होने के कारण डॉक्टर भूपेन हजारिका को दिए गए पुरस्कार और सम्मान की बात करें तो सन 1975 में भूपेन हजारिका को सर्वोत्कृष्ट छत्रिय फिल्म के नेशनल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था | 1992 मे दादा साहब फाल्के पुरस्कार भी मिल चुका है | इसके अलावा भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान 2019 में मरने के बाद भारत रत्न से डॉक्टर भूपेन हजारिका को सम्मानित किया गया | जिनकी मृत्यु 5 नवंबर 2011 को हुई थी |