जापान बना रहा है, ऐसी बुलेट ट्रेन जो धरती से चंद्रमा तक जा सके | Japan Mega Space Mission for Moon

जापान ने बुलेट ट्रेन चलाने की योजना बना डाली है. ये ट्रेन चांद तक धरती की ग्रैविटी का उपयोग करके जाएगी. Japan Mega Space Mission for Moon

Japan Mega Mission for Moon 2022 : आजकल हर एक देश कोई ना कोई नई Researchers या ऐसी मशीन बनाने की कोशिश करता रहता है जिससे कि चांद पर या अन्य किसी ग्रह पर जीवन को संभव किया जा सके | इसी कोशिश को पूरा करने के लिए जापान ने चांद पर जाने के लिए एक बुलेट ट्रेन पर काम कर रहा है | इसके बारे में अधिक जानकारी जानने के लिए पोस्ट को पूरा पढ़ें | 

जापान बना रहा है, ऐसी बुलेट ट्रेन जो धरती से चंद्रमा तक जा सके | Japan Mega Space Mission for Moon
( Image Credit : Google.com)


क्या है पूरा मसला ? 

दोस्तों जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि आजकल हर कोई देश जल्द से जल्द अन्य किसी ग्रह पर जीवन खोजने की कोशिश करता रहता है | इसी कोशिश को पूरा करने के लिए जापान एक ऐसी ट्रेन के फार्मूले पर काम कर रहा है जो कि धरती से चांद तक जाएगी | इस ट्रेन को चलाने के लिए ग्रेविटेशनल फोर्स अर्थात गुरुत्वाकर्षण बल का इस्तेमाल किया जाएगा | 

जानकारी के मुताबिक जापान ने यह बताया है कि यह बुलेट ट्रेन पहले धरती से चंद्रमा तक के लिए चलाई जाएगी | अगर यह टेक्नोलॉजी सफल होती है तो फिर इसी को आगे बढ़ाते हुए मंगल ग्रह तक भी ले जाया जाएगा | इसी के साथ मंगल ग्रह पर जापान की ग्लास हैबिटेट बनाने की योजना भी है | यानी कि मंगल ग्रह पर इंसान एक ऐसे कांच से बने हुए बॉक्स के अंदर रहेगा जिसमें धरती के जैसा वातावरण हो सके | 

आमतौर पर वैज्ञानिक बताते हैं कि जब हम स्पेस में जाते हैं तो वहां पर ग्रेविटी ना होने की वजह से हम हवा में तो उड़ने लगते ही है, इसके अलावा एंटी ग्रेविटी वाले स्थानों पर हमारे शरीर में उपलब्ध मांसपेशियों और हड्डियों में कमजोरी महसूस होने लगती है | अतः मंगल ग्रह पर आर्टिफिशियल स्पेस हैबिटेट में इस बात का ध्यान रखा जाता है कि वहां पर धरती के जैसा वातावरण हो | 

आपको बता दें कि धरती से चंद्रमा तक बुलेट ट्रेन बनाए जाने की योजना को जापान की क्योटो यूनिवर्सिटी और काजिमा कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा बनाया गया है | इस योजना के तहत मंगल ग्रह पर जीवन की संभावना को खोजने के लिए यथासंभव प्रयास किए जाएंगे | यह भी हो सकता है कि इस मिशन के पूरा होने के बाद मंगल ग्रह पर जीवन संभव हो सके | 

दोस्तों अगर आपको आज की हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप इसे अपने उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो कि विज्ञान सब्जेक्ट में रुचि रखते हो | या फिर अपना करियर स्पेस साइंस जैसे विज्ञान की एक फील्ड में बनाना चाहते हो | इसके अलावा आप हमें सोशल मीडिया नेटवर्क जैसे कि फेसबुक इंस्टाग्राम और टि्वटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |