Agneepath Scheme's Oppose : आखिर अग्निपथ योजना का विरोध क्यों किया जा रहा है ?

Agneepath Scheme's Oppose : आखिर अग्निपथ योजना का विरोध क्यों किया जा रहा है, जानिए क्यों 'अग्निपथ' पर बिहार में सबसे ज्यादा है उबाल

Agneepath Scheme's Oppose :  अभी हाल ही में सरकार ने अग्नीपथ योजना में सेनाओं की भर्ती के लिए यह योजना लागू की है | इस योजना के लागू होने के 1 दिन बाद ही देश के अलग-अलग हिस्सों में अग्नीपथ योजना का विरोध चालू हो गया है | 

अग्नीपथ योजना को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और तीनों सेनाओं के प्रमुखों द्वारा काफी सोच विचार के लागू किया गया है | इस योजना के अंतर्गत भर्ती होने वाले सैनिकों को 4 साल के प्रशिक्षण के बाद ही परमानेंट नौकरी के लिए रखा जाएगा | इतना ही नहीं इसके अलावा सरकार ने वरीयता क्रम में भी ऐसे सैनिकों को प्राथमिकता देने का निर्णय भी लिया है | 

परंतु देश के अलग-अलग हिस्सों में अग्नीपथ योजना को लेकर काफी विरोध उमड़ता हुआ नजर आ रहा है | इसका सबसे ज्यादा प्रभाव बिहार राज्य के युवाओं में देखने को मिला है | बिहार में लोग विरोध करने के लिए सड़कों पर उतर आए हैं, जान देने की धमकी दे रहे हैं | ट्रेनों को भी बिहार के युवाओं के द्वारा रोका जा रहा है | 

Agneepath Scheme's Oppose :  आखिर अग्निपथ योजना का विरोध क्यों किया जा रहा है ?

हेलो दोस्तों ! स्वागत है आपका INshortkhabar.com की एक और नई पोस्ट में | आज की इस पोस्ट में हम आपको अग्नीपथ योजना को लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों में युवाओं के द्वारा विरोध क्यों किया जा रहा है इसके बारे में आपको जानकारी देने वाले हैं | अभी हाल ही में सरकार के द्वारा अग्नीपथ योजना को लागू किया गया है, इस योजना के अंतर्गत देश सेवा के लिए जागरूक युवाओं को एक अवसर दिया जाता है | जिससे वह अपना हुनर और देशभक्ति को भी दिखा सकता है| 

अग्नीपथ योजना का विरोध क्यों ? 

अग्नीपथ योजना को लागू करने के बाद अब सवाल यह है कि आखिर क्यों बिहार के लोग अर्थात बिहार के छात्र युवा इस योजना का विरोध क्यों कर रहे हैं ? इसके पीछे उन्होंने पूछताछ के दौरान कई सारे कारण बताए हैं,  जो कि निम्न है - 

अग्नीपथ योजना का विरोध का सबसे बड़ा कारण तो यह है कि लाखों लोग भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए काफी समय से तैयारी कर रहे हैं | ऐसे पिछले 2 सालों से कोरोनावायरस के कारण सेना में भर्ती की कोई भी गुंजाइश नहीं थी  | अर्थात कोरोनावायरस के कारण पिछले 2 सालों से सेना में एक भी भर्ती नहीं हुई | 

ऐसे में जो युवा काफी समय से भारतीय सेना में जाने के लिए निरंतर तैयारी कर रहे हैं उनके लिए तो यह ओवर एज ( अधिक आयु वाले ) काफी बड़ा कारण बना हुआ है, जिसकी वजह से वह अब सेना में भर्ती नहीं हो सकते | 

इसके अलावा अग्नीपथ योजना के लागू होने का विरोध बिहार के लोग इसलिए भी कर रहे हैं, सेना में भर्ती के लिए सरकार हर साल रैलियों का आयोजन करती है | परंतु रैली के अलावा उनका एक एंट्रेंस एग्जाम भी लिया जाता है | 

ऐसे में वे युवा जो कि रैली में क्वालिफाइड हो चुके हैं अब उनके लिए एंट्रेंस एग्जाम होना था | परंतु राजनाथ सिंह ने अग्नीपथ योजना करने के बाद यह ऐलान किया था कि जैसे ही अग्नीपथ योजना लागू होगी उसके बाद सेना में भर्ती होने की पहले की प्रक्रिया को रद्द किया जाएगा | 

ऐसी परिस्थिति में वह भारतीय जवान जो की रैली तो क्वालीफाई कर चुके हैं परंतु उनका एंट्रेंस एग्जाम होना है तो उनका यह एग्जाम रद्द कर दिया गया है | अब नए तरीके से अर्थात अग्नीपथ योजना के हिसाब से सेना में जवान भर्ती किए जाएंगे | इससे उन युवाओं की मेहनत के साथ तो खिलवाड़ किया जा रहा है | 

अतः बिहार के और अन्य राज्यों के युवाओं के द्वारा अग्नीपथ योजना का विरोध के सबसे बड़े कारण यह दो ही बताए जा रहे हैं | इससे कई सारे युवाओं ने तो अपनी जान की धमकी भी दी है | बिहार में अग्नीपथ योजना का विरोध सबसे ज्यादा देखने को मिल रहा है | 

बिहार राज्य की जहान बाद जिले में सुबह के समय से ही विभाग के युवाओं ने अग्नीपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है | वे लोग सड़कों पर उतर आए हैं और लगातार टायर जलाकर इस योजना का विरोध कर रहे हैं | वहीं दूसरी ओर बिहार के बक्सर में युवाओं ने रेलवे स्टेशन पर भी हंगामा कर दिया है | 

बिहार के बक्सर जिले के युवा रेलवे स्टेशन पर जाकर पटरी पर खड़े होकर हंगामा कर रहे हैं | वे लोग ट्रेन को भी नहीं जाने दे रहे हैं | ऐसा ही करीब 100 युवाओं ने 1 दिन पहले रेल की पटरी पर बैठ कर धरना दी थी जिसकी वजह से जनशताब्दी एक्सप्रेस की आवाजाही में करीब आधे घंटे का अंतर पड़ा था | 

बिहार में जब युवाओं से पूछताछ की गई तो उनका कहना है कि पिछले 2 सालों से कोरोनावायरस के कारण भर्ती नहीं हुई | ऐसे में जो लोग अपना फिजिकल और मेडिकल टेस्ट कंप्लीट करके बैठे हुए हैं उनका भविष्य खतरे में पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है | 

अग्नीपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन करने वाले अधिकतर युवा वह शामिल है जो कि भारतीय सेना में जाने के लिए सालों से तैयारी करते हुए दिखाई दे रहे हैं | अगर बात उनके भविष्य की है तो यह काफी संदिग्ध मामला नजर आ रहा है | ऐसे में तैयारी करने वाले युवा अपनी जान के साथ खिलवाड़ करने की धमकी दे रहे हैं | 

आज आपने क्या न्यूज़ पढ़ी ? 

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने आपको अग्नीपथ योजना के विरोध में बिहार के युवाओं के द्वारा प्रदर्शन के बारे में जानकारी दी है | इस योजना का विरोध केवल बिहार के लोग ही नहीं बल्कि देश के अलग-अलग हिस्सों में कर रहे हैं | यह मामला काफी संदिग्ध होता हुआ नजर आ रहा है | 

ऐसे में सरकार को जल्द से जल्द इस मुद्दे पर फैसला लेने की कोशिश करना चाहिए | अगर एक भी भारतीय युवा जो कि सेना में जाने के लिए तैयारी कर रहा है उसकी जान को कुछ हुआ तो यह भारत के लिए बहुत शर्म की बात होगी | 

दोस्त उम्मीद करते हैं कि आपको आज की हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी | अगर आपको आज की है पोस्ट अच्छी लगती है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो कि भारतीय सेना में जाने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं | ऐसे लोग जो कि भारतीय सेना में भर्ती होना उनका जुनून है | 

इसके अलावा आप हमें सोशल मीडिया नेटवर्क जैसे कि फेसबुक इंस्टाग्राम और टि्वटर पर भी फॉलो कर सकते हैं | क्योंकि हम अपने सोशल मीडिया नेटवर्क पर रोजाना नई नई पोस्ट आपके लिए पब्लिश करते रहते हैं |