Angelo Moriondo Birth Anniversary in Hindi : Google Doodle ने एस्प्रेसो मशीन के आविष्कारक एंजेलो मोरियॉन्डो को दी श्रद्धांजलि

Angelo Moriondo Birth Anniversary in Hindi : Google Doodle ने एस्प्रेसो मशीन के आविष्कारक एंजेलो मोरियॉन्डो को दी श्रद्धांजलि

Angelo Moriondo birth anniversary News : इस दुनिया में जितनी भी एस्प्रेसो मशीन जो की कॉपी बनाने के लिए प्रयोग की जाती है, उनके पिता कहे जाने वाले Angelo Moriondo की 171वी जन्मदिवस पर गूगल ले उनकी तस्वीर डूडल पर दिखा कर उनको श्रद्धांजलि दी है | 

Angelo Moriondo Birth Anniversary in Hindi : Google Doodle ने एस्प्रेसो मशीन के आविष्कारक एंजेलो मोरियॉन्डो को दी श्रद्धांजलि

हेलो दोस्तों ! स्वागत है आपका INshortkhabar.com की एक और नई पोस्ट में | आज की इस पोस्ट में हम आपको Angelo Moriondo जोकि एस्प्रेसो मशीन के जन्मदाता करे जाते हैं, आज इनकी 171वी जन्मदिवस पर गूगल ने डूडल बना कर श्रद्धांजलि दी है | उसके बारे में बताने वाले हैं | 

Angelo Moriondo birth anniversary News 

Angelo Moriondo के 171 वे जन्मदिवस पर गूगल ने एक अच्छा सा डूडल बनाकर दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन पर दिखाया है | एस्प्रेसो मशीन का 18 84 में सबसे पहले पेटेंट कराने वाले व्यक्ति का आज जन्मदिन है | 

Angelo Moriondo का जन्म 1851 में 6 जून को इटली देश के टयूरिन में हुआ था | Angelo Moriondo एक उद्यमी परिवार से संबंधित थे | इनके परिवार के सभी लोग अत्यंत प्रभावशाली थे जिन्होंने कुछ ना कुछ नया करने की कोशिश की थी | 

Angelo Moriondo के समय इटली में कॉफी को बहुत ज्यादा पसंद किया जाता था | होटल पर ग्राहकों को कॉफी बनने का इंतजार करना पड़ता था | इसी बात से परेशान होकर Angelo Moriondo ने सोचा कि अगर हम एक ही साथ बहुत ज्यादा कॉफी बनाने तो इस समस्या का समाधान मिल जाएगा | 

दरअसल Angelo Moriondo ने सिटी सेंटर पियाजा कार्लो फेलिस में ग्रैंड होटल लिगुर और वाया रोमा के गेलेरिया नाजियोनेल में अमेरिकन बार को खरीद लिया था |  तभी उन्होंने सोचा कि अगर हम एक साथ ज्यादा कॉफी बना ले तो हम अपने बिजनेस को भी आगे बढ़ा पाएंगे और इसके साथ ही ग्राहकों की मांग को भी पूरा कह सकता है | 

जब बात 1884 की है, तब मोरियॉन्डो ने  टयूरिन जनरल एक्स्पो में अपनी मशीन को पेश किया था | उन्होंने एक मैकेनिक से दिशानिर्देशों को लेकर यह मशीन तैयार करवाई थी | इसी कार्य के लिए उन्हें जनरल एक्सपो के कांस्य पदक से सम्मानित किया जा चुका है | 

मोरियॉन्डो के द्वारा बनाई गई इस मशीन को 23 अक्टूबर 1885 को पैरिस में एक्सप्रेसो मशीन को इंटरनेशनल पेटेंट भी मिला था | 

आज आपने क्या न्यूज़ पढ़ी ? 

दोस्तों हमने आपकी किस पोस्ट में आपको एक्सप्रेसो मशीन के गॉडफादर कहे जाने वाले मोरियॉन्डो द्वारा बनाई गई इस मशीन के बारे में जानकारी प्रदान की है | इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट में बताया है कि गूगल ने GIF बनाकर मोरियॉन्डो को अपने डूडल पर दिखाया है | 

दोस्तों अगर आपको आज की हमारी है पोस्ट पसंद आई हो तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें | जिससे उनको भी ऐसी जानकारी सरल शब्दों में मिल सके | इसके अलावा आप हमें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे कि फेसबुक इंस्टाग्राम टि्वटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |