ISRO-Venus Mission Hindi 2024 : क्या है इसरो का शुक्रयान मिशन | शुक्र गृह के लिए इंडिया मिशन 2024

ISRO-Venus Mission Hindi 2024, ISRO Venus Mission, शुक्रियान मिशन का क्या उद्देश्य है , शुक्रियान मिशन ,शुक्रियान मिशन (ISRO-Venus Mission)

ISRO-Venus Mission Hindi 2024 : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) यानी कि इसरो अब चांद के लिए चंद्रयान और मंगल ग्रह के लिए मंगलयान लॉन्च करने के बाद अब शुक्र ग्रह यानि कि बीनस के लिए शुक्रियान साल 2024 में लॉन्च(ISRO-Venus Mission Hindi 2024) करने की योजना बना रहा है | 

अगर आप इसरो के शुक्रियान मिशन (ISRO-Venus Mission 2024)के बारे में अधिक जानकारी जानना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ सकते | 

ISRO-Venus Mission Hindi 2024 : क्या है इसरो का शुक्रयान मिशन | शुक्र गृह के लिए इंडिया मिशन 2024
हेलो दोस्तों ! स्वागत है आपका INshortkhabar.com कि एक और नई पोस्ट में | आज की इस पोस्ट में हम आपको भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का शुक्र ग्रह के लिए मिशन के बारे में जानकारी देने वाले हैं | 

ISRO-Venus Mission  इसरो साल 2024 में शुक्र ग्रह के लिए छोड़ने वाला है | अगर आप इस मिशन के बारे में जानना चाहते हैं तो आप एकदम सही पोस्ट पढ़ रहे हैं | 

क्या है इसरो का शुक्रियान मिशन ( ISRO Mission for Venus 2024 )

दरअसल इसरो ने चंद्रयान -1 को साल 2008 में एवं चंद्रयान-2 को साल 2019 में चंद्रमा उपग्रह की जानकारी इकट्ठा करने के लिए लांच किया गया था | भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ( Indian Space Research Organization) ने मंगल ग्रह के लिए मंगलयान को भी लॉन्च किया जा चुका है | 

अब भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी कि इसरो शुक्र ग्रह की जानकारी इकट्ठा करने के लिए और शुक्र ग्रह के बारे में रिसर्च करने के लिए शुक्रियान मिशन (ISRO-Venus Mission) को लॉन्च करने वाले हैं | इस मिशन को साल 2024 दिसंबर महीने में लॉन्च किया जाना है | 

इसके अलावा हम आपको बता दें कि साल 2024 में इसरो मंगलयान-2 मिशन को भी लॉन्च करने वाला है | यह जानकारी इसरो के प्रमुख एस सोमनाथ ने बताई है | 

शुक्रियान मिशन का क्या उद्देश्य है ? 

इसरो ने चंद्रमा और मंगल ग्रह पर अपने मिशन सफलतापूर्वक लॉन्च करने के बाद शुक्र ग्रह के लिए एक मिशन लॉन्च करने जा रहा है | यह हो सकता है कि इस मिशन का नाम इसरो शुक्रियान मिशन 2024 (ISRO-Venus Mission) रखें | क्योंकि है बाकी के दो मिशनो से काफी समानता खाता है | 

इसरो ने अभी ऑफीशियली घोषणा नहीं की है कि साल 2024 में छोड़े जाने वाले शुक्र ग्रह के लिए इस मिशन का नाम शुक्रियान शुक्रिया नही होगा | 

दोस्तों हम आपको बता दें कि इस शुक्र ग्रह के लिए शुक्रियान का उद्देश्य सौरमंडल का सबसे गर्म ग्रह के बारे में जानकारी एकत्रित करना है | 

शुक्रियान को जब सौरमंडल का सबसे गर्म ग्रह शुक्र ग्रह की कक्षा में छोड़ा जाएगा | तब इस मिशन की सहायता से इसरो शुक्र ग्रह के बारे में यह जानकारी एकत्रित करने में सफल हो सकता है कि शुक्र ग्रह के नीचे क्या है ? 

इसके अलावा इसरो के इस मिशन का उद्देश्य शुक्र ग्रह पर बनने वाले सल्फ्यूरिक अम्ल के बादल के बारे में अधिक से अधिक जानकारी एकत्रित करने में भी है मिशन सहायक हो सकता है | 

क्या शुक्र ग्रह पर जीवन की संभावना है अथवा नहीं इसकी जानकारी भी इस मिशन की सहायता से लगाए जाने की कोशिश की जाएगी | \

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के प्रमुख एस सोमनाथ ने बताया है कि शुक्र ग्रह के लिए शुक्रियान मिशन की रिपोर्ट को इसरो के वैज्ञानिकों द्वारा तैयार कर लिया गया है | 

इसरो के वैज्ञानिकों ने इस रिपोर्ट में इस मिशन के लिए खर्चे से लेकर सभी कक्षा चट्टा का ब्यौरा तैयार कर लिया है | 

भारत सरकार ने भी इस शुक्र ग्रह के लिए बनाए जा रहे प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है | अब बस देरी इस बात की है कि जल्द से जल्द इसरो के सभी वैज्ञानिक सेटेलाइट बनाने में जुट जाएं | 

इस मिशन के लिए जितने भी आवश्यक उपकरण की आवश्यकता होगी वह सभी जल्द से जल्द कंप्लीट कर लिए जाएं | 

इसरो के प्रमुख एस सोमनाथ ने साथ में यह भी बताया है कि भारत के लिए यह काम बहुत आसान हो सकता है | उन्होंने कहा है जो क्षमता हमारे पास उपलब्ध है उनकी सहायता से हम शुक्र ग्रह पर आसानी से और जल्दी अपना मिशन लॉन्च कर देंगे | 

शुक्रियान मिशन को लॉन्च करने की तारीख दिसंबर 2024 ही क्यों रखी गई है ? 

दोस्तों अगर आपके मन में भी है सवाल उठ रहे तो हम आपको बता देना चाहते हैं कि दिसंबर 2024 में शुक्र ग्रह और पृथ्वी एक रेखा में आने वाले हैं | तथा यह दोनों ग्रह परिक्रमा के दौरान एक रेखा में आ जाने से हमें इस मिशन में कम से कम ईंधन और समय की आवश्यकता होगी | 

एस सोमनाथ नहीं बताया कि अगर हम साल 2024 के दिसंबर महीने में इस मिशन को लॉन्च नहीं कर पाते हैं तो हमें यह मौका फिर 2031 में मिलेगा | 

आज आपने क्या न्यूज़ पढ़ी ? 

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने आपको इसरो के द्वारा पर किए गए शुक्र ग्रह के एक मिशन के बारे में जानकारी दी है | हो सकता है कि इसरो इस मिशन का नाम शुक्रियान रखें | 

इसके अलावा हमने आपको किस पोस्ट में कई सारी जानकारी प्रदान की है जो कि शुक्र ग्रह के राज खोल देती हैं | अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आती है तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें | 

इसे आप अपनी नॉलेज तो बड़ा पाने के साथ ही साथ अपने उन दोस्तों की और इसको और बढ़ा पाएंगे जोकि साइंस से जुड़े इन मशीनों के बारे में रुचि रखते हैं | आपने सोशल मीडिया नेटवर्क पर भी फॉलो कर सकते हैं |