विश्व हीमोफीलिया दिवस 2022 : World hemophilia day 2022 पर जाने इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी |

विश्व हीमोफीलिया दिवस 2022 : World hemophilia day 2022 पर जाने इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी , हीमोफीलिया का इलाज ,हीमोफीलिया क्या है ?

World hemophilia day in Hindi 2022विश्व हीमोफीलिया दिवस 2022 पर जाने हीमोफीलिया बीमारी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी | आज यानी की 17 अप्रैल को विश्व हीमोफीलिया दिवस है | और भारत में कई लोग हीमोफीलिया बीमारी से ग्रसित है |

केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में इस बीमारी की कहर छाया हुआ है | यह एक रक्त स्त्रवण से संबंधित बीमारी है| तो इसी बीमारी को काम करने और लोगों को जागरूक करने के लिए पूरे विश्व में विश्व हीमोफीलिया दिवस 17 अप्रैल को मनाया जाता है | 

विश्व हीमोफीलिया दिवस 2022 : World hemophilia day 2022 पर जाने इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी |
( Image Source : Google ) 

हेलो दोस्तों ! अगर आप विश्व हीमोफीलिया दिवस 2022 के बारे में सम्पूर्ण जानकारी पाना चाहते है तो आज की इस पोस्ट में हम आपको विश्व हीमोफीलिया दिवस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है | जैसे की विश्व हीमोफीलिया दिवस क्या है ? और विश्व हीमोफीलिया दिवस क्यों मनाया जाता है ? 


विश्व हीमोफीलिया दिवस के बारे में इसके अलावा हीमोफीलिया के लक्षण और उपाय भी इस पोस्ट में चर्चा करने वाले है | और इसके अलावा आपको डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए यह भी इस पोस्ट में बताने वाले है


हीमोफीलिया क्या है ? 


हीमोफीलिया एक रक्तस्राव से संबंधित बीमारी है जो की चोट लगने पर खून यानी की रक्त का निकलना बंद नहीं होता है | यह खून बार-बार आपको या व्यक्ति की चोट से निकलता रहता है | यह बीमारी एक गंभीर बीमारी है जिसमें अधिक खून निकलने से व्यक्ति की जान भी जा सकती है | इसका आपको जल्द से जल्द इलाज करवाना चाहिए अगर आपको इस बीमारी के लक्षण नजर आते है तो | 


अगर हम हीमोफीलिया के प्रकार की बात करें तो sambadenglish.com के अनुसार हीमोफीलिया दो प्रकार की होती है | 


  1. Hemophilia A

  2. Hemophilia B


ये दोनों प्रकार हीमोफीलिया के है जिसकी रिपोर्ट sambadenglish.com में छपी गई है | इनमे से पहले वाले Hemophilia A एक नार्मल सा प्रकार है जो की क्लॉटिंग फैक्टर आठ की कमी के कारण होता है | और जो दूसरा वाला प्रकार Hemophilia B यह  सामान्य नहीं है | यह जितने भी Hemophilia से ग्रस्त मरीज होते है उनमे से 20 प्रतिशत मरीज को यह बीमारी होती है | 


अगर हम बात करें की Hemophilia के वाहक कोन है ? तो आपको बता दे Hemophilia का वाहक एक महिला में उपस्थित X- गुणसूत्र होता है | जिसकी वजह से यह बीमारी दूसरे में फैलती है |

अब हम Hemophilia बीमारी के लक्षण की बात करेंगे | इसके कई लक्षण होते है और इसके लक्षण कई अधरों पर निर्भर करते है | हम अभी कुछ लक्षण आपको नीचे बताने वाले है तो आप उनको ध्यान से पढ़िए | 


  • अगर आपके कई बड़े या गहरे घाव होते है 
  • टीकाकरण के बाद रक्तस्राव होने लगे जो की सामान्य न हो 
  • मूत्र या मल में रक्त आना
  • शिशुओं में चिड़चिड़ापन
  • अगर आपकी नाक से खून बहता है तो भी ये हो सकता है | 
  • चोट, सर्जरी या दंत चिकित्सा के बाद अत्यधिक रक्तस्राव होना


हीमोफीलिया का इलाज 


अगर आपको लगता है की आपको हीमोफीलिया की बीमारी है या फिर आपको अपने आप में या किसी रिश्तेदार में हीमोफीलिया के लक्षण नजर आते है तो तो इसके उपचार किया जा सकता है | इसका इलाज अभी तक नहीं मिला है | यह एक बहुत ही घातक बीमारी है जो की व्यक्ति की जान भी ले सकती है | आप कोई भी इलाज करने से पहले अपने डॉक्टर या नजदीकी अस्पताल में जाकार सलाह जरूर ले |