पृथ्वी दिवस 2022 : पृथ्वी दिवस क्या है | पृथ्वी दिवस 22 अप्रैल को क्यों मनाया जाता है ?

पृथ्वी दिवस 2022 : पृथ्वी दिवस हर साल विश्व भर में लगभग भारत के अलावा 195 देशों में मनाया जाता है | पृथ्वी दिवस की इतिहास की बात करें तो यह साल 1970 से लगातार हर वर्ष 22 अप्रैल को मनाया जाता है | इसके पीछे का पूरा इतिहास हम आपको इस पोस्ट में बताने वाले है | 

 

इसके साथ ही पृथ्वी दिवस क्या है ? पृथ्वी दिवस पर 2022 की थीम क्या है ? इन टॉपिक्स पर भी चर्चा करने वाले है| हमें पता है की आपके मन में काफी सारे सवाल उठ रहे होंगे | हम आपके सम्पूर्ण सवालों के जवाब को इस पोस्ट में बताने की पूरी कोशिश करेंगे | 

 

पृथ्वी दिवस 2022 : पृथ्वी दिवस क्या है | पृथ्वी दिवस 22 अप्रैल को क्यों मनाया जाता है ?


हेलो दोस्तों ! स्वागत है आपका INshortkhabar.com की एक और नई और धमाकेदार पोस्ट में | आज की इस पोस्ट में हम आपको पृथ्वी दिवस से संबंधित जानकारी देने की कोशिश कर रहे है | उम्मीद है आपको आज की इन्शोर्ट खबर की ये पृथ्वी दिवस पर लिखी गई ये पोस्ट पसंद आने वाली है | 

 

अब चलिए बिना समय बर्बाद किये हुए आज की इस पोस्ट का श्री गणेश यानी पोस्ट की शुरुआत कर लेते है | जिससे की आपको पृथ्वी दिवस 2022 की सम्पूर्ण जानकारी मिल सके | 

 

पृथ्वी दिवस 2022 ( Earth Day In Hindi 2022)

 

पृथ्वी दिवस हर साल 1970 से मनाया जा रहा एक सामाजिक त्यौहार है जो कि भारत सहित विश्व भर में मनाया जाता है | अगर हम पृथ्वी दिवस के इतिहास की बात करे तो यह साल 1970 से अमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने इस प्रदूषित वातावरण में पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए की थी | 


सन 1970 से एक साल पहले यानी की 1969 में संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित राज्य कैलिफोर्निया के सांता बारबरा में एक तेल रिसाव की घटना से त्रासदी हो गई थी | 


इस घटना में कैलिफोर्निया के काफी लोग आहत हो गए थे | इस बात से सीख लेकर लोगो ने पर्यावरण की सुरक्षा की तरफ ध्यान देना शुरू कर दिया | 


इस दिशा में सबसे पहले सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने लोगो को जागरूक किया और उसके इस प्रयास की वजह से लगभग 22 करोड़ अमेरिकी नागरिकों ने इसमें भाग लिया |  तो हमें आपको एक शार्ट में पृथ्वी दिवस का इतिहास बता दिया है | 

पृथ्वी दिवस की थीम 2022 

 

हर साल जब पृथ्वी दिवस मनाया जाता है तब इसकी एक दिशा को निर्धारित करने के लिए थीम बनाई जाती है | जैसे की साल 2020 की थीम जलवायु पर काम करने की थी | और इस साल 2022 में पृथ्वी दिवस की थीम 'इन्वेस्ट इन अवर प्लेनेट (Invest in Our Planet) है | 


पृथ्वी दिवस की क्या जरूरत है ? 

 

वैसे तो आज की इस जिंदगी में बिना मतलब और जरूरत के कुछ नहीं होता है | हम पूरी साल न जाने कितने सारे डे यानी कि दिवस मानते रहते है , आये दिन कोई न कोई नया डे आता ही रहता है | चूँकि आज की इस पोस्ट में हम पृथ्वी दिवस की जरूरत की बात कर रहे है | 

 

भारत में प्राचीन काल से ही भारत के लोग पृथ्वी को अपनी माता मानकर उसकी पूजा करते है | इसका महत्व हमारे धार्मिक ग्रंथों और वेदों में भी बहुत विस्तार से बताया गया है | पृथ्वी दिवस को मनाने की आवश्यकता केवल और केवल लोगों के बीच में पृथ्वी के प्राकृतिक सौंदर्य को बनाए रखना है | 

 

पृथ्वी हमारे लिए जीवनदायिनी है | हम सभी लोग चाहे वो जीवित और अजीवित हो पृथ्वी पर ही स्थित है | ऐसे में हमको पृथ्वी महत्व देना होगा | 

 

हम न जाने कितने प्राकृतिक संसाधनों का दुरुपयोग कर रहे है | और इसका कारण विज्ञान को माना जाने लगा है | एक नजरिये से यह सही भी है | क्योंकि हम विज्ञान के लिए और अपने जीवन को आसान बनाने के लिए ही इन प्राकृतिक संसाधनों को निरंतर उपयोग कर रहे है | 

 

अगर हम पुराने ज़माने की बात करें तो पहले के समय में सुविधाएँ भले ही हमारे पास काम थी | परन्तु लोग प्रकृति को देवी मानकर उसकी पूजा करते थे | पृथ्वी पर उपस्थित सभी प्राकृतिक संसाधनों को देवी और देवताओं का महत्व देकर उनकी पूजा करते थे | परन्तु आज के समय में परिस्थिति इसके बिलकुल विपरीत है | 

 

बात ये नहीं है की हम प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग कर रहे हो यह भी है की हम प्रकृति को इन सब के चलते बिल्कुल भी महत्व नहीं देते है | और न ही प्रकृति का ध्यान रखते है | पेड़-पौधों लगाने की तरफ भी लोगो का ध्यान नहीं जाता है | यही सब वजह है की हमको पृथ्वी दिवस मनाने की आवश्यकता पड़ी है |