ग्वालियर में जिला पंचायत सदस्य चुनाव शुरू और 2 दिन में 31 नामांकन लिए गए ||

Panchayat Election 2021, Zilla Panchayat Election#Gwalior District Panchayat Election, nomination process begins in Gwalior, Gwalior Highlights,

ग्वालियर में  जिला पंचायत सदस्य चुनाव शुरू | 

जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि ग्वालियर में जिला पंचायत सदस्य के लिए चुनाव शुरू हो चुके हैं | और इसके चलते 2 दिन में केवल 31 नामांकन उम्मीदवारों से लिए गए | और इन नामांकन फॉर्म को जमा मध्यप्रदेश के के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया | 

( this Image may be Subject to Copyright. because it has downloaded from the Google. )

ग्वालियर में पंचायत चुनाव को लेकर पहले और दूसरे दिन में केवल 31 नामांकन शिवराज सिंह चौहान ने जमा किए | जिनमें एक नामांकन तो मंगलवार को ही दाखिल कर लिया गया था | जोकि घाटीगांव ब्लॉक जिला पंचायत के वार्ड नंबर 4 से किया गया था | और निर्वाचन विभाग के खाते में लगभग 1 लाख रुपए इन नामांकन फॉर्म के बदले में जमा हुए है | 

इसी के साथ ही जनपद पंचायत के सदस्य और पंच सरपंच के लिए भी ब्लॉक लेवल पर उम्मीदवार निर्वाचन अधिकारी कार्यालयों में अपनी रसीद कटवा रहे हैं |  

ग्वालियर में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुए को अभी दो ही दिन हुए हैं | मतलब यह है कि यह प्रक्रिया 13 दिसंबर 2021 से शुरू हो चुकी है | और आज 15 दिसंबर है | यह सभी उम्मीदवार कुछ कलेक्ट्रेट के अंदर और उनमें से कुछ बाहर बैठकर आवेदन लेने के लिए दस्तावेजों की लिस्टिंग करते दिखाई दे रहे हैं | संभावित प्रत्याशी और अपने साथ पुराने बिजली के बिल लेकर भी आए है | दूसरे दिन यानी कि 14 दिसंबर को मुरार और घाटीगांव के छह बालों के लिए कुछ प्रत्याशी आज इनकी संख्या 18 है |यह 18 प्रत्याशी नामांकन लेने के बाद राशि जमा कर रसीद ग्रहण कर ली है | इसी के साथ डबरा और भितरवार के लिए सोमवार को सात और मंगलवार को छह रशीद काटी गई | 

अनावश्यक गतिविधियां को लेकर नियम - 

जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि चुनाव के दौरान काफी अनावश्यक गतिविधियां उम्मीदवारों के द्वारा की जाती है जिनमें कुछ हथियारबंद उम्मीदवार भी शामिल होते हैं | ऐसे में चुनाव के दौरान जिला प्रशासन ने उम्मीदवारों से बंदूक जमा कराने के लिए कहां | परंतु कुछ लोग इसके खिलाफ हैं | इसकी याचिका हाईकोर्ट में की गई है और अधिवक्ता उमेश कुमार बोहरे ने यह याचिका दायर की है | 

याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया है कि चुनाव में और व्यक्तियों से बंदूक या आतंकवादी हथियार जमा कराने चाहिए जिनके ऊपर पहले से कोई केस दर्ज है | उन्होंने कहा कि यह सभी से बंदूक जमा कराने की जरूरत नहीं है | और ऐसा कोई नियम भी नहीं है | 

Also Read :