Ganga Express Way : गंगा एक्सप्रेसवे के बारे में संपूर्ण जानकारी || UP के 12 जिलों को जोड़ेगा Ganga Express way


Ganga Express Way with full Details 

Ganga Express way : पश्चिम से पूर्व भी तक उत्तर प्रदेश के 12 जून को जोड़ने वाला गंगा एक्सप्रेस मार्ग के बारे में संपूर्ण जानकारी आज हम आपको देने वाले हैं | अगर आप भी गंगा एक्सप्रेस मार्ग के बारे में जुड़े हुए सारे तथ्यों को जानना चाहते हैं या यह उत्तर प्रदेश के किन किन जिलों से होकर जाने वाला है उसके बारे में आज हम चर्चा करने वाले हैं | 

Ganga Express Way : गंगा एक्सप्रेसवे के बारे में संपूर्ण जानकारी || UP के 12 जिलों को जोड़ेगा Ganga Express way
( this Image May be Subject to Copyright because it has downloaded from the Google ) 

गंगा एक्सप्रेस मार्ग जिसका उद्घाटन उत्तर प्रदेश में किया जाएगा यह उत्तर प्रदेश के जिले मेरठ से प्रयागराज तक 12 जिलों से होकर गुजरने वाला है | इस एक्सप्रेस मार्ग को राजनीतिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि यूपी में विधानसभा चुनाव आने वाले हैं उससे पहले उत्तर प्रदेश मैं ऐसे कामों को अंजाम दिया जा रहा है | 

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश वहां के नागरिकों को गंगा एक्सप्रेस वे की सौगात देने जा रहा है 18 दिसंबर शनिवार को होने वाले इस एक्सप्रेस वे के शिलान्यास देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करने वाले हैं | यह एक्सप्रेस मार्ग मेरठ से प्रयागराज तक 12 दिनों से होकर गुजरने वाला है और साथ में ही यह है उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से और पश्चिमी हिस्से को आपस में जोड़ देगा | 

Ganga Express way कितने UP के जिले से होकर गुजरेगा ? 
जैसा कि हम लोग बात कर ही चुके हैं कि गंगा एक्सप्रेस वे उत्तर प्रदेश के 12 जिलों से होकर गुजरने वाला है और यह 12 जिले निम्नानुसार है- मेरठ ,हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा , संभल ,बदायूं ,शाहजहांपुर ,हरदोई , उन्नाव रायबरेली , प्रतापगढ़ और अंतिम जिला प्रयागराज से होकर जाएगा | 

गंगा एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के जिन 12 जिलों से होकर गुजरेगा वहां पर औद्योगिक और धार्मिक पड़ावों को भी आपस में जोड़ने के का काम करेगा | इस एक्सप्रेस देखो दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे से भी जोड़ा जाएगा जिसके साथ दिल्ली से प्रयागराज की दूरी भी काफी कम होगी | 

मेरठ से प्रयागराज का सफर - 

गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ से प्रयागराज के लिए रवाना होने में लगभग 8 घंटे का समय लगेगा | जो कि पहले लगभग 11 घंटे में तय कर पाना संभव हो पाता था | इसका मतलब यह है कि यह गंगा एक्सप्रेस वे औद्योगिक क्रांति को भी काफी बढ़ा देगा |
 
अगर हम गंगा एक्सप्रेस वे की रफ्तार की बात करें तो यह लगभग 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दूरी तय करेगा मतलब 1 घंटे में यह 120 किलोमीटर तक जा सकेगा | 

Ganga Express way के फायदे क्या है ? 

अगर हम गंगा एक्सप्रेस देकर फायदे के बारे में बात करें तो इसके काफी सारे फायदे हमें देखने को मिलते हैं क्योंकि यह न केवल यात्रियों को 11 घंटे की दूरी 8 घंटे में तय करने में सफल होगा बल्कि औद्योगिक दृष्टि से भी काफी फायदा होने वाला है | 

गंगा एक्सप्रेस वे की मदद से हम औद्योगिक विकास को भी बढ़ावा दे सकेंगे साथ ही साथ व्यापार कृषि पर्यटन जैसे आदि क्षेत्रों में भी हमें काफी फायदा मिलेगा | जब इस तरह का कार्य पूरा हो जाएगा तब यह उत्तर प्रदेश का पूर्व से पश्चिम को जोड़ने वाला सबसे लंबा एक्सप्रेस वे बन जाएगा |