पीएम नरेंद्र मोदी ने की हाइड्रोजन मिशन की घोषणा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने की हाइड्रोजन मिशन की घोषणा, pm modi's announcement ,

हाल ही में, प्रधानमंत्री मोदी ने ‘राष्ट्रीय हाइड्रोजन मिशन’ शुरू करने की घोषणा की है। इसका उद्देश्य, भारत को हरित हाइड्रोजन के उत्पादन और निर्यात की दृष्टि से एक वैश्विक हब बनाना है। 

ग़ौरतलब है कि साल 2021 के केंद्रीय बजट में ‘राष्ट्रीय हाइड्रोजन ऊर्जा मिशन’ शुरू करने की बात कही गई थी। इसका मक़सद देश को ‘हरित ऊर्जा संसाधनों से हाइड्रोजन का उत्पादन’ करने में सक्षम बनाना है।

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने की हाइड्रोजन मिशन की घोषणा।
( published by Inshortkhabar )


Hydrogen mission in India - 


हाइड्रोजन, आवर्त सारणी में सबसे हल्का और पहला तत्व है। चूंकि, हाइड्रोजन हवा के मुकाबले हल्का होता है, इसलिए यह वायुमंडल में ऊपर की ओर प्रसारित हो जाता है। 


यही कारण है कि इसे अपने शुद्ध रूप ‘H2’ में मुश्किल से ही कभी पाया जाता है। सामान्यतः हाइड्रोजन, एक गैर-विषाक्त, अधात्विक, गंधहीन, स्वादहीन, रंगहीन और अत्यधिक ज्वलनशील द्विपरमाणुक गैस है। हाइड्रोजन ईंधन, ऑक्सीजन के साथ जलने पर ‘शून्य-उत्सर्जन’ करता है। हाइड्रोजन ईंधन के उपयोग से उत्सर्जित होने वाला एकमात्र उप-उत्पाद ‘पानी’ होता है। 

ये  100 प्रतिशत स्वच्छ माना जाता है। इसका उपयोग ईंधन सेलों अथवा आंतरिक दहन इंजनों में किया जा सकता है। अंतरिक्ष यान प्रणोदनों (spacecraft propulsion) में भी हाइड्रोजन ईंधन का उपयोग किया जाता है। खास बात ये है कि यह ब्रह्मांड में पाया जाने वाला सबसे प्रचुर तत्व है।

सूर्य और अन्य तारे, व्यापक रूप से हाइड्रोजन से निर्मित होते हैं। हालांकि हमें ये भी ध्यान देना होगा कि ईंधन के रूप में और उद्योगों में हाइड्रोजन के व्यावसायिक उपयोग के लिए, हाइड्रोजन के उत्पादन, भंडारण, परिवहन और मांग निर्माण के लिए अनुसंधान और विकास में भारी निवेश की ज़रूरत है।