HomeDiwaliदिवाली 2022 : दिवाली कब है | दिवाली क्यों मनाया जाता...

दिवाली 2022 : दिवाली कब है | दिवाली क्यों मनाया जाता है ?

दिवाली 2022 : दोस्तों क्या आप हिंदुओं का पवित्र त्यौहार दिवाली के बारे में जानना चाहते हैं | तो आप सही पोस्ट पढ़ रहे हैं| क्योंकि इस पोस्ट के आपको बताने वाला हु की दिवाली क्यों मनाई जाती है ?, दीवाली पर अपने दोस्तो और रिश्तेदारों को क्या Wishesh, या मैसेज भेजे | इसके अलावा कई सारी जानकारी आपको इस पोस्ट में दिवाली से संबंधित जानने को मिलेंगी | 

दिवाली 2022

दिवाली को भारत में ही नहीं पूरे विश्व में सबसे ज्यादा धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार कहां जा सकता है | भारत में तो हम धूमधाम से मनाते ही है, इसके अलावा पूरे तथा सभी धर्मों के लोग विश्व में दिवाली को बड़े धूमधाम से मनाते हैं | इससे पता चलता है कि ‘हिंदू धर्म केवल एक ऐसा धर्म है जो बिना प्रचार प्रसार के पूरी दुनिया में बढ़ रहा है | ‘

दिवाली 2022 

हिंदुओं का पवित्र त्यौहार दिवाली भगवान राम के बनवास से अयोध्या लौटने की खुशी में दीपों के साथ भगवान राम का स्वागत करने के लिए मनाया जाता है | दीपावली शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है – दीप + वली | तथा दीप जलाकर मनाया जाने वाला त्यौहार दीपावली कहलाता (दिवाली) है | 

दोस्तों जब भगवान राम के पिता जी राजा दशरथ ने उनकी पत्नी कैकई को वचन दिया था | उस वचन को निभाने के लिए राम भगवान की माता जी कैकई ने राजा दशरथ से भगवान राम के लिए राम भगवान का राज्याभिषेक ना करने के लिए तथा राम भगवान के लिए 14 वर्ष का वनवास देने के लिए कहा था | 

जिसके बाद राम भगवान ने अपने पिता राजा दशरथ के इस वचन को निभाने के लिए राज्य अभिषेक ना करवाते हुए शाही सुखचैन छोड़कर जंगल में 14 वर्ष के वनवास काटने के लिए जंगल में चले गए थे | जब राम भगवान जंगल में बनवास के लिए गए तब वह केवल भगवा रंग की वेशभूषा ही अपने साथ ले गए थे | 

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान राम जंगल में अलग-अलग स्थानों पर वनवास के दौरान अलग-अलग कार्य किए | इस यात्रा के दौरान उन्होंने कई सारे राक्षस और दानवों का उद्धार किया था | तथा कई सारे साधु संतों और ऋषियों की सेवा भी की थी | भगवान राम के साथ वनवास के लिए उनकी पत्नी सीता माता तथा लक्ष्मण जी साथ गए थे | 

अतः वनवास के दौरान कई सारी राक्षस, दानवों का उद्धार करने के बाद जब सीता माता को रावण के द्वारा हर लिया गया था | इसके बाद फिर राम भगवान ने सीता माता को छुड़ाने के लिए कई सारे वाहनों की सेना तैयार की | इसी दौरान उनकी मुलाकात हनुमान जी से भी हुई थी | फिर सभी ने मिलकर उनका साथ दिया | 

अंत में रावण का अंत करके भगवान राम 14 वर्ष वनवास को काटकर जब अयोध्या वापस लौटे थे, उसके बाद समस्त अयोध्या वासियों ने दीप जलाकर भगवान राम का स्वागत किया था | तभी से दीपावली अर्थात दिवाली हर साल बड़े धूमधाम से सभी हिंदू तथा भारतवासी ही लोग मनाते आ रहे हैं , हमेशा ही मनाते रहेंगे | दिवाली भारत सबसे ज्यादा हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला त्यौहार है | 

दिवाली क्यों मनाया जाता है ? 

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि दिवाली हिंदू धर्म का पवित्र त्योहारों में से एक है, जो कि पूरे भारत में ही नहीं बल्कि विश्व में सबसे ज्यादा मनाया जाता है | हिंदू धर्म में दिवाली भगवान राम की वनवास यात्रा से अयोध्या लौटने की खुशी में मनाया जाता है | जिस वक्त भगवान राम वनवास पूरा करने के बाद तथा रावण से अपनी सीता को चढ़ाने के बाद अयोध्या वापस आए थे | 

उस समय समस्त अयोध्या वासियों ने भगवान राम का पूरे अयोध्या में दीप जला कर स्वागत किया था | अतः तभी से हिंदू धर्म में दिवाली को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है | दिवाली पर लोग नए नए कपड़े खरीदते हैं, मिठाईयां, गहने, साज-सजावट की वस्तुएं, तथा घरों की पुताई भी की जाती है| जिससे ऐसा लगे कि भगवान राम हमारे घर पर ही पधारने वाले हैं | 

दिवाली कब है ? 2022

दोस्तों आपको बता दें कि हर साल दिवाली अक्टूबर नवंबर के महीने में ही मनाई जाती है | अतः यह अक्टूबर का महीना चल रहा है | इस महीने के लास्ट में दिवाली का त्यौहार 24 अक्टूबर 2022 से शुरू होगा | दीपावली हमेशा कार्तिक मास की अमावस्या को ही मनाया जाता है| दिवाली का यह त्यौहार 5 दिनों तक मनाया जाता है | जिसमें तो पहले दिन धनतेरस की पूजा की जाती है | इसके बाद माता लक्ष्मी जी की, फिर गोवर्धन तथा इसके बाद भाई दूज के साथ यह त्यौहार समाप्त हो जाता है | 

दिवाली पर क्या तैयारी की जाती है ? 

दीपावली एकमात्र ऐसा त्यौहार है जो कि भारत के अलावा कई देशों में मनाया जाता है | इसे भारतीय लोग बड़े ही हर्षोल्लास के साथ घर की सजावट के साथ ही मनाते हैं | दिवाली के अवसर पर भारतीय हिंदू लोग सोने चांदी इत्यादि के सिक्के भी खरीदते हैं | इन सिक्कों की लक्ष्मी पूजन के दिन माता जी के साथ पूजा की जाती है | लोग पटाखे और आतिशबाजी के साथ भी दिवाली मनाते हैं |

इसके अलावा दिवाली आने से कुछ दिन पहले ही समस्त भारतीय लोग अपने पूरे घरों को साफ सुथरा करने के बाद उसकी पुताई वगैरा भी करते हैं | कई लोगों अगर कोई शुभ काम करना चाहते हैं तो वह दिवाली को करना ही उचित समझते हैं | इसी तरह कई लोग दिवाली के दिन कोई नया वाहन जैसे गाड़ी मोटरसाइकिल कार इत्यादि खरीदते हैं |खाने-पीने के सामान जैसे की मिठाईयां इत्यादि लोग अपने घरों में दिवाली के अवसर पर बनाते हैं |

दिवाली का महत्व 

दोस्तों दिवाली पूरे हिंदू लोगों के लिए तो मायने रखता ही है, इसके अलावा इस त्यौहार को अन्य धर्मों के लोग भी मनाते हैं | दिवाली की अगर हम महत्व की बात करें तो यह पौराणिक काल से भगवान श्री राम के समय से ही चला आ रहा है | जिसका धार्मिक महत्व बहुत अधिक है | कई लोग दिवाली को बुराई पर अच्छाई की जीत के तौर पर भी मनाते हैं | 

क्योंकि इस दिवाली पर दीपक जलाकर बुराई का प्रतीक अंधकार को रोशनी से दूर भगाया जाता है | दीपावली के अवसर पर समस्त लोग अपने घरों के सभी स्थानों पर दीपक जलाकर सेलिब्रेट करते हैं | अतः आप लोग समझ सकते हैं कि दीपावली का भारतीय इतिहास में और भारतीयों की जिंदगी में कितना अधिक महत्व है | 

Diwali Wishes, Images, Shayari & Quotes

जब भी कोई नया त्यौहार आता है, तब लोग कुछ त्यौहार को सेलिब्रेट करने के लिए लोगों को नए नए तरीके के उपहार के साथ कुछ Wishes, Images, Shayari & Quotes के साथ देते हैं | इसलिए आप की आवश्यकता को समझते हुए हमने दिवाली से संबंधित कुछ शायरी इमेजेस तैयार की है | उन्हें आप अपने दोस्तों रिश्तेदारों को देकर दिवाली को बेहतर बना सकते हैं | 

1. इस दिवाली आपके घर में सुख समृद्धि और लक्ष्मी का वास हो, 

     लक्ष्मी माता करें आपके घर में धन की बरसात हो| 

2. रोशनी से भरपूर, भव्य महोत्सव | 

    आपको मुबारक हो, दीपों का उत्सव | 

3. दीपों की रोशनी दूर करती है अंधेरा | 

    माता लक्ष्मी करें, इस दिवाली आपकी खुशियों का हो नया सवेरा | 

4. यूं तो भारत में अनेक त्यौहार मनाया जाते हैं | 

    पर दिवाली जैसा, केवल दिवाली मनाया जाता है | 

5. रोशनी के इस त्यौहार पर आपकी

    हर एक ख्वाहिश मंजूर हो दुआ है

    रब से आपके घर मे सुख समृद्धि और

    खुशियो की बहार ! शुभ दीपावली ! 

दोस्तों ऊपर कुछ शायरी आपको दिखाई दे रही होंगी | यह शायरी कुछ गूगल के द्वारा ली गई है, कुछ हमने बनाई है | अगर आपको यह शायरी पसंद आती है तो आप इन्हें अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और टीचर, सगे- संबंधियों के साथ शेयर कर सकते हैं | इसके अलावा आप व्हाट्सएप स्टेटस, इंस्टाग्राम स्टोरी, और फेसबुक स्टोरी पर भी इन्हें शेयर कर सकते हैं | 

आज आपने क्या सीखा ? 

आज की इस पोस्ट में हमने आपको दीवाली 2022 से संबंधित जानकारी प्रदान की है | जैसे कि दीपावली क्या है? , दीपावली क्यों मनाया जाता है ? दीपावली कब से मनाई जाती है ? इसके अलावा दीपावली के पीछे इतिहास क्या है ,? इत्यादि जानकारी हमने इस पोस्ट में आपको सरल शब्दों में बताया है | 

अगर आपको दीपावली 2022 से संबंधित हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें | इसके अलावा आप हमें सोशल मीडिया नेटवर्क जैसे कि फेसबुक इंस्टाग्राम और टि्वटर पर भी फॉलो कर सकते हैं | क्योंकि हम अपनी सोशल मीडिया नेटवर्क पर रोजाना ही ऐसे ही कंटेंट आपके लिए पब्लिश करते रहते हैं| जैसे आपको सही और सटीक जानकारी आपकी अपनी हिंदी भाषा में प्राप्त हो |

https://www.inshortkhabar.com/feeds/posts/default?alt=rss
RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments