HomeHindi Newsआज का इतिहास - जानिए आज मेडम क्यूरी ने रेडियोधर्मी तत्व 'रेडियम'...

आज का इतिहास – जानिए आज मेडम क्यूरी ने रेडियोधर्मी तत्व ‘रेडियम’ की खोज कैसे की ?

आज का इतिहास – आप सभी लोग जानते हैं कि रेडियोधर्मी तत्व रेडियम आज के समय में कितना ज्यादा अहम तत्व है | पूरी आवर्त सारणी में रेडियोधर्मिता के मामले में सबसे अच्छे गुण रेडियम की ही माने जाते हैं | क्या आप जानते हैं कि मैडम क्यूरी ने इस रेडियोधर्मी तत्व रेडियम की खोज आखिर कैसे की ?
मेडम क्यूरी
(Image Credit : ‘Aajtak.in)
अगर आपका जवाब नहीं है, अब हम आपको इस आर्टिकल में किसी की जानकारी देने वाले हैं कि मैडम क्यूरी ने रेडियोधर्मी तत्व रेडियम (RA) कैसे की है ? इसके अलावा आपको इस आर्टिकल में हम मैडम क्यूरी से संबंधित कई सारी जानकारी भी देने वाले हैं | 

रेडियम क्या है ? 

अगर आपने कक्षा 11वीं तथा 12वीं में विज्ञान विषय से पूरी की हो, या अभी पढ़ रहे हों | तब आपने वहां पर आवर्त सारणी (Periodic Table) को देखा भी होगा और पढ़ा भी होगा | उसी आवर्त सारणी के S ब्लॉक , समूह 2 में अपनी रेडियोधर्मिता के लिए जाना जाता है | जिसका परमाणु भार 226 तथा परमाणु क्रमांक 88 है | 

क्यूरी ने रेडियम की खोज कैसे की ? 

दोस्तों आपको बता दें कि 1902 में 21 दिसंबर को ही मैडम क्यूरी और उनके पति पियरे अपनी प्रयोगशाला काम कर रहे थे | उनको रिसर्च करते हुए लगभग 3 साल से अधिक इस समय हो गया था | 
फिर एक दिन उन्होंने देखा की पिचब्लेंड को शुद्ध अंश में कुछ कण चमक रहे हैं | यह चमकते हुए कण ही रेडियम था | फिर जब क्यूरी ने इसका परमाणु भार को नापा तब इसका परमाणु वजन 226 निकला | 
आपको बता दें की रेडियम की खोज से पहले साइंटिस्ट समझते थे की मूल तत्व को, एक तत्व से दूसरे तत्व में नहीं बदला जा सकता है | परंतु रेडियम की खोज ने कई सारे राज उजागर कर दिए | इसके बाद मैडम क्यूरी और उनके हसबैंड को विज्ञान में काफी ख्याति मिली है | इस तत्व की खोज से रसायन शास्त्र में नई क्रांति आई | 
इसके अलावा आपको हम बता देना चाहते है की मैडम क्यूरी और उनके पति को इसके लिए नोबेल प्राइज भी दिया जा चुका है | 
मैडम क्यूरी की फैमिली में सभी लोगों को नोवेल प्राइस से सम्मानित किया जा चुका है | लेकिन मैडम क्यूरी को दो बार निकल प्राइस दिया जचुका है |  बाद में फिर रेडियम का अध्यन करने के बाद इसके गुणों के हिसाब से इसका उपयोग कैंसर जैसी बीमारी में किया जाने लगा |
https://www.inshortkhabar.com/feeds/posts/default?alt=rss
RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments